शहर में पानी किल्लत, उधर रोजना 2.50 करोड़ लीटर पानी की होती है चोरी

water problem

नागपुर : भीषण जलसंकट की समस्या जूझ रहे नागपुर शहर सीमा में रोजाना 2.50 करोड़ लीटर पीने के पानी की चोरी होने का खुलासा हुआ है। शहर में 33 हजार ऐसे अवैध कनेक्शन है, जिनकी बिलिंग नहीं होती है। मनपा ने इनकी पहचान कर इन्हें अपने नल के कनेक्शन वैध कराने का मौका दिया है। लेकिन 2 लाख अवैध कनेक्शन अभी भी ऐसे है, जिनकी पहचान मनपा या ओसीडब्ल्यू नहीं कर पाया है।

एक अनुमान के मुताबिकत, ये रोजाना 15 करोड़ लीटर पानी की चोरी कर रहे है। इनका पता लगाने में प्रशासन विफल साबित हुआ है। जानकारों का दावा है कि अगर मनपा पानी की इस चोरी पर रोक लगाती है तो काफी हद तक शहर में पानी की समस्या हल होने में मदद मिल सकती है। लेकिन इच्छा शक्ति का अभाव और राजनीतिक दखलंदाजी से ऐसी चोरी को संरक्षण और बल मिल रहा है। जिसका खामियाजा नियमित बिल का भुगतान करने वालों को उठाना पड़ रहा है। वे बूंद-बूंद को तरस रहे है। श

हर में करीब 6 लाख संपत्तियां है। इसकी तुलना में सिर्फ 3.50 लाख नल कनेक्शन मनपा के रिकार्ड पर है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि बस्तियों में घूमकर मनपा व ओसीडब्ल्यू प्रशासन ने 33 हजार अवैध नल कनेक्शनों की पहचान की है। शहर में अभी भी डेढ़ से दो लाख अवैध कनेक्शन होने का अंदेशा है। जिसका अभी तक पता नहीं चल पाया है। अवैध कनेक्शनों के इन आंकड़ों से शहर में रोजाना 17.50 करोड़ लीटर पानी की चोरी होने का अंदेशा है। इन आंकड़ों को सूत्र यूं समझाते है। नियमानुसार, शहरी इलाके में प्रति व्यक्ति को 150 लीटर पानी दिया जाता है।

एक परिवार में औसत 5 सदस्य माने जाते है। ऐसे में 33 हजार अवैध कनेक्शनों के जरिये रोजाना 2 करोड़ 47 लाख 50 हजार लीटर पानी चोरी जा रहा है। इसी तरह 2 लाख अज्ञात अवैध कनेक्शनों पर 15 करोड़ लीटर रोजाना बर्बाद होने की जानकारी है। 2 लाख अवैध कनेक्शनों का पता लगाने में अब तक सफलता नहीं मिली है। फिलहाल 33 हजार अवैध कनेक्शनों पर फोकस किया गया है। 20 मई से इनके खिलाफ मुहिम चलायी जा रही है।

इस मुहिम के बावजूद सिर्फ 1 हजार अवैध कनेक्शनों ने अपना कनेक्शन वैध करने के लिए आवेदन किया है। मुहिम के दौरान 164 कनेक्शन भी काटे गए है। चौंकाने वाली एक और जानकारी यह कि 3.50 लाख ग्राहकों में से 50 प्रतिशत ही नियमित अपने बिलों का भुगतान करते है। 50 प्रतिशत लोगों पर करोड़ों रुपए का बकाया है। ऐसे में नियमित बिल का भुगतान करने वालों को मनपा पानी भी नियमित नहीं दे पा रही है।

और पढिये : Nagpur girl Sugandha Date crowned as the winner of Zee TV’s Sa Re Ga Ma Pa Li’l Champs