उपराजधानी के स्मृति सिनेमागृह का गिर गया पर्दा, हमेशा के लिए बंद

स्मृति सिनेमागृह

नागपुर :- शहर के मध्य में स्थित प्रसिद्ध स्मृति सिनेमागृह के रूपहले पर्दे पर गुरुवार को ‘हैप्पी फिर भाग जाएगी’ का आखरी नाइट शो प्रदर्शित किया गया था। सिनेमा हॉल के अंदर का नजारा आम दिनों जैसा ही था- कोई कसक नहीं, कोई वेदना नहीं। बहुतों को तो मालूम भी नहीं था कि वह ऐतिहासिक शो के साक्षी बने हुए हैं। इसके बाद इस स्मृति सिनेमा हॉल की यादें ही शेष रहेंगी। पिछले ३३ साल से नागपुरवासियों के मनोरंजन का मुख्य केंद्र रहे इस सिनेमा हॉल के अंतिम दिन के सभी चारों शो के दर्शकों से हम मुखातिब हुए क्योकि गुरुवार को हुवे फिल्म का वह आखरी शो था।

बता दे शहरी क्षेत्रों में जमीनों के दाम में बड़े इजाफे से सिंगल पर्दे वाले सिनेमाघर बंद किए जा रहे हैं और इनके स्थान पर बहुमंजिला इमारतें तथा शॉपिंग मॉल खड़े किए जा रहे हैं। स्मृति सिनेमा को कल ३० अगस्त को बंद कर दिया गया है। इसके लिए पिछले माह पत्र भी जारी कर दिया गया था। स्मृति टॉकीज लगातार कुछ कानूनी कार्रवाई से जूझ रहा था, किसी दूसरी पार्टी की जमीन होने की वजह से स्मृति सिनेमा पर केस चल रहे थे लगातार दबाव के बाद इसे बंद करने का फैसला लिया गया है।

शहरवासियों को हम याद दिलाना चाहते है की स्मृति टॉकीज को ३५ साल पहले बनाया गया था। ३३ साल के अपने सफर में कई फिल्मों का गवाह रहने के बाद सिनेमा ने गुरुवार को आखिरी शो किया गया। लगातार ३३ साल से कई हिट फिल्मों का प्रदर्शन करने के बाद गुरुवार को इसने पर्दा हमेशा के लिए गिरा दिया है ।

और पढे : भारतीय रेलवे को ट्रांसफॉर्मर सप्‍लाई करेगी नागपुर की कंपनी