संगीत सभा ब्रह्मनाद में डॉ. जयश्री वैष्णव ने दी प्रस्तुति

नागपुर : दक्षिण मध्य क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र नागपुर की ओर से रविवारको केंद्र परिसर में सवा छह बजे प्रात:कालीन संगीत सभा ब्रह्मनाद में डॉ. जयश्री वैष्णव ने प्रस्तुति दी। कार्यक्रम का शुभारंभ संगीतज्ञ आचार्य विवेक गोखले, केंद्र के नियामक मंडल के सदस्य आशुतोष अडोणी, केंद्र के निदेशक दीपक खिरवड़कर, उप निदेशक मोहन पारखी ने दीप प्रज्जवलन से किया। इस अवसर पर कार्यक्रम अधिकारी दीपक कुलकर्णी, श्रीकांत देसाई भी उपस्थित रहे। संचालन श्वेता शेलगांवकर ने किया।

डॉ. जयश्री ने राग अहीर भैरव में रसिया म्हारा से प्रात: कालीन सभा की शुरुआत की। उन्होंने राग जौनपुरी में मोरी पायलिया झनकारी रे, नाट्य गीत मी मानापमाना, अभंग आता कोठे धावे मन तथा भैरवी ठुमरी में न जाओ परदेस मोरे श्याम की भी प्रस्तुतिया दीं। डॉ. जयश्री अमरावती के महिला महाविद्यालय के संगीत विभाग में सहायक प्रोफेसर हैं। उन्होंने पंडित काले गुरुजी से संगीत की प्राथमिक शिक्षा ली है। सुरमणि कमल भोंडे, पंडित किशोर नवसालकर, विजया गटलेवार से भी संगीत की विधिवत शिक्षा ली है। कार्यक्रम में उनके साथ तबले पर मिलिंद वैष्णव एंव संवादिनी पर नरेंद्र कडवे ने साथ दिया।

और पढिये : MTV Beats Drums up the Entertainment Bonanza with a new show, The Top 20 Countdown