गडकरी के घर के सामने दिनभर चला जल्लोष

नागपुर : गुरुवार को नागपुर शहर का तापमान 46.2 डिग्री सेलसियस रहा। लेकिन यह हीट वेव भाजपा समर्थकों के आगे फीकी नजर आई। मतगणना की शुरुआत से ही नितीन गडकरी और एनडीए ने अपनी बढ़त बनाए रखी थी। यही भाजपा-शिवसेना समर्थकों के उत्साह और कांग्रेस समर्थकों की निराशा का कारण रहा। कलमना एपीएमसी के बाहर जहां मतगणना चल रही थी, वहां तो किसी दल के समर्थकों का ज्यादा हुजूम नहीं था, लेकिन केंद्रीय मंत्री नितीन गडकरी के रामनगर स्थित निवास स्थान पर मेला लगा था।

सुबह से ही समर्थक ढोल, झंड़े और गुलाल लेकर गडकरी के घर के बाहर जुटे थे। गडकरी से मिलकर उन्हंे शुभकामनाएं देने वालों की भीड़ लगी थी। राउंड दर राउंड गडकरी कांग्रेस उम्मीदवार नाना पटोले पर बढ़त बनाए जा रहे थे। लिहाजा दोपहर तक गडकरी का निवास स्थान जश्न के मैदान मंे तब्दील हो चुका था। समर्थक ढोल की ताल पर थिरकते रहे, तो हर बढ़त पर पटाखों की लड़ियां फूटने लगीं। हांलाकि इस दौरान गडकरी ने अधिकांश समय अपने घर के अंदर ही बिताया। दो बार वे अपने समर्थकों के मिलने बाहर निकले। हां दोपहर 2 बजे के करीब जीत से आश्वस्त गडकरी ने 3.30 बजे पत्रकार परिषद लेने की घोषणा की।

कांग्रेस कार्यालय में पसरा रहा सन्नाटा

रुझानों में पिछड़ी कांग्रेस के लिए गुरुवार का दिन निराशा भरा रहा। हांलाकि मतगणना की शुरुआत के बाद कुछ देर के लिए चिटणीस पार्क स्थित कांग्रेस कार्यालय-देवाड़िया भवन के बाहर कुछ समर्थक जरूर जुटे, लेकिन भाजपा की ओर झुकते रुझान के कारण उनके यह उत्साह जल्दी ही फीका पड़ गया। दोपहर तक तो कांग्रेस कार्यालय में सन्नाटा पसर गया। कांग्रेस नेता विलास मुत्तेमवार, नितीन राऊत या अन्य कोई भी बड़ा चेहरा दिनभर अधिक सक्रिय नहीं दिखा।

और पढिये : पटोले को हाईकोर्ट से भी झटका, तथ्य नहीं होने के कारण याचिका खारिज