सीबीएसई बोर्ड के रिजल्ट का इंतजार, नए तरीके से होगा 10वीं कक्षा का मूल्यांकन

नागपुर : सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) बोर्ड की परीक्षाएं हाल ही में समाप्त हुई है। परीक्षा के लंबे कालावधि के बाद अब विद्यार्थी रिलैक्स मूड में है। अब उन्हें परीक्षा परिणामों का इंतजार है। हर साल की तरह 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा के नतीजे ही पहले जारी किए जाएंगे। इस वर्ष सीबीएसई ने 10वीं बोर्ड परीक्षा के मूल्यांकन में कुछ अहम बदलाव किए है। सीबीएसई द्वारा जारी नोटिफिकेशन के मुताबिक इस बार 10वीं कक्षा के विद्यार्थियों के लिए पासिंग क्राईटेरिया जरा आसान किया गया है। अब उन्हें थ्यौरी और प्रैक्टिकल मिला कर 33 प्रतिशत अंक ही जरुरी होंगे। पूर्व में किसी विषय में पास होने के लिए विद्यार्थियों को थ्यौरी और प्रैक्टिकल दोनों में पास होना पड़ता था। यदि कोई विद्यार्थी प्रैक्टिकल में अनुपस्थित रहता तो उसे शुन्य अंक मिलते और इसका उल्लेख उसकी मार्कशीट में भी किया जाता था। इसके अलावा सीबीएसई ने रिजल्ट जारी होने के बाद उस पर शंका होने की स्थिति में विद्यार्थियों को कुछ विकल्प दिए है। विद्यार्थियों के पास रिवैलूएशन, “वेरिफिकेशन ऑफ मार्क्स’ और उत्तरपुस्तिका की फोटोकॉपी मंगाने की सुविधा होगी। सीबीएसई ने स्पष्ट किया है कि 10वीं और 12वीं कक्षा के रिजल्ट जारी होने के अगले ही दिन विद्यार्थी \”वेरिफिकेशन ऑफ मार्क्स’ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। 5 दिनों तक यह लिंक शुरु रहेगी। इसी तरह रिजल्ट जारी होने के 17वंे दिन फोटो कॉपी के लिए आवेदन किए जा सकेंगे। इसी तरह रिजल्ट जारी होने के 21 वें दिन विद्यार्थी रिवैलूएशन के लिए आवेदन कर सकेंगे।

और पढे: सीबीएसई ने लांच किया ‘शिक्षा वाणी एप्लिकेशन’

Comments

comments