क्राइम ब्रांच ने किया ऑनलाइन सेक्स रैकेट का पर्दाफाश : एक दलाल गिरफ्तार

sex racket nagpur
नागपुर :- इन दिनों वाट्सअप देह व्यवसाय का सबसे बड़ा जरिया बन गया है क्यों की इसमें पुलिस का खतरा काफी कम हो गया है। उपराजधानी में ऐसे ही चल रहे ऑनलाइन सेक्स रैकेट का क्राइम ब्रांच ने पर्दाफाश करते हुए एक दलाल को गिरफ्तार किया। जिसके बाद इस दलाल के चंगुल से दिल्ली से बुलाई गई एक युवती को मुक्त कराया गया। ख़ास बात यह है की दिल्ली से बुलाई गई इस युवती को शहर के आलीशान होटल में रखा गया था। शहर में स्कॉट देह व्यवसाय माया नामक स्कोका डॉटकॉम के माध्यम से चला रही थी। इस मामाले की आरोपी सूत्रधार पूजा उर्फ माया गोपाल राव (३२) एमपी हाउसिंग सोसायटी हाउसिंग बोर्ड, भिलाई( छत्तीसगढ़)  निवासी है। यह महिला बजाज नगर, नागपुर स्थित नीलकमल सोसायटी की पहली मंजिल के फ्लैट  सी- ४ में किराए से रहती थी। उसने दिल्ली के अलावा अन्य शहर की युवतियों को अपनी वेबसाइट से जोड़ रखा था। ग्राहकों की मांग के अनुसार वह युवतियों को देह व्यवसाय के लिए शहर व शहर के बाहर आतिश खडसे के साथ भेजा करती थी। नागपुर में वह काफी दिनों से ऑनलाइन escort का कार्य कर रही थी। उसने इस काम के लिए आतिश रामेत्रवर खडसे (३८) गोरेवाड़ा निवासी को अपने साथ रखा था। आतिश युवती को वाहन में ले जाकर ग्राहकों तक पहुंचाता था। पहले वह युवतियों की फोटो ग्राहकों के वाट्सअप पर भेजता था जिसके बाद पसंद आने पर वह संबंधित युवती को ग्राहक के पास ले जाता था। जानकारी है की नागपुर के कई शौकीन ग्राहक माया से जुड़े हुए हैं। अब ग्राहकों को युवती की भेजी गई फोटो पसंद आने पर उसे ग्राहक के पास भेजने का रिस्क लिया जाता है। इसके लिए शहर के कई होटलों में इस कार्य के लिए कमरे बुक रहते हैं।
पुलिस सूत्रों के अनुसार पुलिस को शहर में चल रही स्कोका डाटकाम वेबसाइट से देह व्यवसाय किए जाने की गुप्त सूचना मिली।.पुलिस ने यह भी पता कर लिया कि नागपुर में चल रहे ऑनलाइन  स्कॉट को माया चला रही है।  पुलिस ने पंटर तैयार कर ऑनलाइन संपर्क से एक युवती की मांग की। तब आतिश खडसे का नंबर पंटर को दिया गया। पंटर ने खडसे से युवती के बारे में बातचीत की। खडसे ने उसे बताया कि वह उसकी तस्वीर वाटसअप पर भेज रहा है। माया ने पंटर के मोबाइल वाटसअप पर तस्वीर भेज दी। पंटर ने तस्वीर में दिखाई गई लड़की को  पसंद किया.तब खडसे ने युवती को पूनम चेंबर के पास लेकर आने को कहा। पंटर के पास जब पूनम चेंबर सदर के पास एक लडकी को लेकर आया गया तब अपराध शाखा पुलिस विभाग का सामाजिक सुरक्षा दस्ता पहले से ही वहां जाल बिछाकर बैठा था। पुलिस ने छापा मारकर आरोपी आतिश खडसे को धर दबोचा और उसके चंगुल से यवुती को छुुड़ाया। पूछताछ के दौरान आतिश ने पुलिस  को बताया कि युवती दिल्ली की रहनेवाली है. उसे शहर में एक होटल में रखकर उससे देह व्यापार कराया जा रहा था। यह युवती एक-दो माह के करार पर नागपुर बुलाई जाती है जिसके बदले वह लाखों रुपए लेती है।

५ से १० हजार रुपए तक लेती हैं युवतियां
सूत्रों के अनुसार ग्राहक देखकर युवतियों के बारे में रेट तय किए जाते थे। दिल्ली से बुलाई गई यह युवती ५ से १० हजार रुपए प्रत्येक ग्राहक से लेती थी। इस युवती को पूनम चेंबर के सामने भारत पेट्रोल पंप के पास आरोपी आतिश खडसे के साथ आते ही सामाजिक सुरक्षा दस्ते ने धर दबोचा। अपराध शाखा के पुलिस उपायुक्सत संभाजी कदम के मार्गदर्शन में सामाजिक सुरक्षा दस्ते के पुलिस उपनिरीक्षक विक्रम गॉड, मीना जगताप, उपनिरीक्षक स्मिता सोनवने, एएसआई दामोदार राजुरकर, सुभाष खेडकर, हवलदार विजय गायकवाड, शीतला प्रसाद मिश्रा, मुकुंदा गारमोडे आदि ने कार्रवाई की।

Comments

comments