एक महीने में सड़कें बनाए अन्यथा ठेकेदार को ब्लैक लिस्टेट करें

पारडी में अव्यवस्था पर केंद्रीय मंत्री गडकरी ने ली अधिकारियों की क्लास

नागपुर : पारडी में ओवरब्रिज और सड़कों के अधूरे पड़े कार्य हादसों को खुला िनमंत्रण दे रहे है। हाल में दो सगी बहनों को ट्रक द्वारा कुचलने से माहौल तनावपूर्ण गर्मा गया है। इसे लेकर लगातार प्रदर्शन हो रहे है। ऐसे में स्थानीय प्रतिनिधियों का टेंशन बढ़ गया है। आचारसंहिता के बीच इसे लेकर रविवार को केंद्रीय मंत्री नितीन गडकरी ने एनएचएआई और मनपा अधिकारियों के साथ अपने निवास पर बैठक की। बैठक में पारडी क्षेत्र में हो रही दुर्घटना और काम में हो रहे विलंब को लेकर केंद्रीय मंत्री ने अधिकारी और ठेकेदारों की जमकर क्लास ली। उन्हें एक महीने में क्षेत्र के सारे रास्ते बनाने का अल्टीमेटम देते हुए कहा कि समय-सीमा में कार्य पूरे नहीं होते है तो ठेकेदार को ब्लैक लिस्ट किया जाएगा। पारडी ओवरब्रिज को लेकर आ रही अनेक दिक्कतों पर चर्चा करते हुए तत्काल समाधान निकालने की सूचना भी की। केंद्रीय मंत्री के सख्त रुख को देखते हुए ठेकेदार ने 25 जून तक रास्ते का एक हिस्सा पूरा करने का आश्वासन दिया। मनपा आयुक्त अभिजीत बांगर ने भी इस बाबत सोमवार को 12 बजे अधिकारियों के साथ बैठक करने की जानकारी दी। बैठक में विधायक कृष्णा खोपडे, मनपा स्थायी समिति सभापति प्रदीप पोहाणे, दीपक वाडीभस्मे, वैशाली रोहनकर, योगेश रारोकर, मनोज अग्रवाल, एनएचएआई के चंद्रशेखर राव, यावलकर, व अन्य उपस्थित थे।

पिछले काफी समय से पारडी में ओवरब्रिज का काम चल रहा है। निर्माणकार्य की गति इतनी धीमी है कि काम बहुत आगे नहीं बढ़ पाया है। निर्माणकार्य की वजह से सड़कें संकरी हो गई है। उपर से सड़क के किनारे लगने वाले बाजार ने दिक्कतें और बढ़ाती है। ऐसे में वाहनों को रोजाना रेंगते हुए सड़कें पार करनी पड़ती है। जिसकारण हादसे बढ़ गए है। धूल-मिट्टी से भी परेशानी अधिक है। जिसे लेकर लगातार आवाजें उठती रही है। हाल की दुर्घटना के बाद तनाव बढ़ने से अब जनप्रतिनिधि इसे लेकर गंभीरता दिखा रहे है। रविवार को केंद्रीय मंत्री गडकरी के आवास पर एनएचएआई और मनपा अधिकारियों की बैठक में इसे लेकर विस्तार से चर्चा की गई। विधायक खोपडे ने इस दौरान आक्रामक भूमिका अपनाई। उन्होंने कहा कि ओवरब्रिज के लिए नासुप्र, नजूल, मनपा या किसी तरह निजी जमीन का अधिग्रहण नहीं हो रहा है। बावजूद इसके लिए समय बर्बाद करते हुए अपनी जिम्मेदारी से हाथ झटकने का काम किया जा रहा है। चर्चा के दौरान संबंधित ठेकेदार ने रास्ते का काम 25 जून तक पूरा करने के लिए 100 रुपए के स्टैम्प पेपर पर लिखकर देने का आश्वासन दिया।

अधिक वाचा : वाड़ी के नगराध्यक्ष प्रेम झाडे 20 हजार रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार