शहर के श्री आग्याराम देवी मंदिर में १० अक्टूबर से नवरात्र उत्सव का आयोजन

शहर के श्री आग्याराम देवी मंदिर में १० अक्टूबर से नवरात्र उत्सव का आयोजन

नागपुर : शहर का भोसले कालीन एवं अति प्राचीन और नगर देवी के नाम से प्रसिद्द चमत्कारी श्री आग्याराम देवी मंदिर ट्रस्ट की ओर से श्री आग्यायाराम देवी मंदिर में हर साल की तरह इस वर्ष भी परंपरागत अश्विन नवरात्र की शुरुआत मंगलवार को शुरू होने रही है । जिसके उपलक्ष में मंदिर में नवरात्रोत्सव की तैयारियां शुरू हो गई है तथा सभी व्यवस्थाओं को ध्यान और भक्तों की परेशानियों समझ कर इस बार योग्य व्यवस्था का काम किया जा रहा है ।

इस अंतर्गत दर्शनार्थियों के लिए दर्शन लेने हेतु विशेष व्यवस्था की गई है प्रसाद वितरण देवी को पूजा अर्पण करने के लिए साथ ही आरती के समय होने वाली भीड़ को ध्यान में रखते हुए इस बार श्री आगाराम देवी मंदिर ट्रस्ट कमेटी की ओर से विशेष व्यवस्थाओं का गठन किया गया है जिसमें दर्शन व्यवस्था, अखंड मनोकामना ज्योत, पूजा व प्रसाद वितरण व्यवस्था का गठन किया गया है ।

सुरक्षा व्यवस्था, स्वागत व्यवस्था इत्यादि समितियों का गठन किया गया है । अखंड मनोकामना ज्योति प्रज्वलन १० अक्टूबर को की जाएगी, जो १८ अक्टूबर तक रहेगा । इस साल अखंड मनोकामना ज्योति २७०० ज्योत मंडप में रहनेवाली है । घट विसर्जन १८ अक्टूबर को दोपहर १:०० बजे मंदिर प्रांगण में किया जाएगा जिसके बाद शाम ६:०० बजे माता को स्वर्ण पत्र समर्पण किया जाएगा । मंदिर में महाप्रसाद का आयोजन २२ अक्टूबर को शाम ७:०० बजे से रात्रि १०:०० बजे तक किया गया है, मंदिर ट्रस्ट की ओर से नागरिको को प्रसाद का लाभ लेने का आवाहन किया गया है ।

इस नवरात्रि महोत्सव के उपलक्ष में प्रतिदिन सुबह १०:०० बजे से एवं रात्रि ८:०० बजे मां देवी की आरती होगी । नवरात्रि के उपलक्ष में विभिन्न क्षेत्रों के मान्यवरों को मंदिर में आमंत्रित किया गया है ।

नवरात्रि के चलते हर रोज मंदिर में विविध धार्मिक एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया है इन सभी कार्यक्रमों में और देवी के दर्शन हेतु ज्यादा से ज्यादा भक्तों ने लाभ लेने का आह्वान ट्रस्ट के अध्यक्ष विधायक गिरीश व्यास, उपाध्यक्ष गिरिजा शंकर अग्रवाल, सचिव रामचंद्र पिल्लारे, कोषाध्यक्ष विकास पेठकर, सदस्य विनोद आस्टीकर, सुरेश तिवारी, हरिओम अग्रवाल, श्रीमती दुर्गादेवी कोठारी इन्होंने किया है ।

और पढे : नागपूर येथे शेफ विष्णू मनोहर करणार तीन हजार किलो खिचडीचा विश्वविक्रम