‘बरसात के मौसम में’ हुई गीतों की बारिश

नागपुर : भले ही शहरवासी बारिश की राह देख रहे हैं, लेकिन गायक कलाकारों ने गीतों की बारिश कर कार्यक्रम में समां बांध दिया। वी फाइव एंटरटेनमेंट की ओर से “बरसात के मौसम में” हिन्दी फिल्मी गीतों का कार्यक्रम मधुरम हॉल मोरभवन सीताबर्डी में आयोजित किया गया। कार्यक्रम की संकल्पना अनिल पिल्ले व नितीन झाडे की थी। विजय मधुमटके के बहारदार संचालन ने कार्यक्रम की शोभा बढ़ाई। संगीत संंयोजन मंगेश पटले ने किया।

गायक कलाकार धनराज राऊत, शकील कुरैशी, भाग्यश्री कुलकर्णी, विजया वाइंडस्कर, सायली उरकुडे ने विभिन्न गीतों की प्रस्तुति दी। कार्यक्रम का शुभारंभ फिल्म लोफर के “आज मौसम बड़ा बेईमान…” गीत से किया गया। उपरांत “रिमझिम गिरे सावन…” गीत ने कार्यक्रम में चार चांद लगाए। “बरसात के मौसम में…”, “ओ सजना बरखा बहार आई…”, “मेरे नैना सावन भादो…”, “दिल में आग लगाये…”, “बरखा रानी जरा जम के बरसो…”, “मेघा रे मेघा रे…”, “रिमझिम रिमझिम…”, “भिगी भिगी रातों में…”, “प्यार हुआ इकरार हुआ…”, “रिमझिम के गीत सावन गाये…”, “लगी आज सावन की फिर…”, “तुम जो मिल गये हो…” गानों की प्रस्तुति ने समां बांध दिया।

और पढिये : Numerous Times Failed But Get Nominated For Padma Shri- Rajatkumar Dani